बॉलीवुड

आखिर क्यों पूछा था संजय दत्त ने पिता सुनील दत्त से, मेरी रगों में मुस्लिम खून है…

फिल्म इंडस्ट्री के सुपरस्टार अभिनेता संजय दत्त ने, जिनको उनके सभी फैंस प्यार से संजू बाबा कहते हैं.और उन्होंने मुन्ना भाई बनकर करोड़ों दिलों को जीत लिया है. बॉलीवुड में संजय दत्त ने दमदार एक्टिंग से बहुत नाम कमाया है. संजय दत्त हमेशा अपनी पर्सनल एंड प्रोफेशनल लाइफ के कारण सुर्खियों में बने हुए रहते हैं. संजय दत्त के जीवन पर एक बुक पर लिखी जा चुकी है. इस बुक को लेखक यासिर उस्मान ने लिखा है. इस किताब में लेखक ने संजय दत्त के जीवन होने वाले सभी सुख और दुख के पलों को बड़ी खूबसूरत इसके साथ में लिखा है. संजय दत्त के जीवन पर आधारित इस बुक का नाम ” संजय दत्त : द क्रेजी अनटोल्ड लव स्टोरी ऑफ बॉलीवुडस बैड बॉय. और इसी के साथ संजय दत्त के जीवन पर आधारित एक फिल्म भी बन चुकी है. फिल्म संजू. फिल्म में अभिनेता संजय दत्त की जीवन के सभी अच्छे और बुरे पलों को उजागर किया गया है.

संजय दत्त के जीवन पर आधारित किताब में लेखक यासीर ने उनके जेल के कष्ट भरे सफर को भी लिखा है. यह बात तो सभी को पता है साल 1993 में अदालत ने संजय दत्त को मुंबई बम हमले में दोषी मानते हुए 6 साल की सजा सुना दी थी.जब संजय दत्त मुंबई बम धमाके के आरोप में जेल गए थे. उस समय संजय दत्त के पिता सुनील दत्त अपने बेटे से मिलने के लिए जेल में गए थे. अपने बेटे को जेल की सलाखों के पीछे देख सुनील दत्त अपनी आंखों के आंसू को नहीं रोक सके. और सुनील दत्त अपने बेटे से जानना चाहते थे कि जो पूरी दुनिया उनके ऊपर आरोप लगा रही है कि वह सत्य है या नहीं.

सुनील दत्त , अपने बेटे किसी के मुंह से सिर्फ नहीं सुनना चाहते थे. जेल की सलाखों के पीछे मौजूद संजय दत्त ने अपने पिता सुनील दत्त को पूरी बात बताई. कहा कि मेरे ऊपर लगाए जाने वाले आरोप सत्य है. उन्होंने अपने पिता को कहा अनीस इब्राहिम द्वारा दी गई राइफल उनके पास में थी. और कुछ गोला बारूद भी. संजय दत्त द्वारा कहे गए शब्दों पर, उनके पिता सुनील दत्त को विश्वास नहीं हो रहा था. सुनील दत्त को पता था कि इस गलती की उनके बेटे को बहुत ही बड़ी सजा मिलने वाली है. और इसी मुलाकात के दौरान उन्हें अपने पिता को बताया कि मेरे लोगों में भी मुसलमान का खून दौड़ रहा है. ज़ब संजय दत्त ने अपने ऊपर लगाए हुए आरोप को स्वीकार किया. इस बात सुनकर उनके पिता पूरी तरह से हैरान रह गए. अपने अपने बेटे संजय दत्त से पूछा कि तुमने इतना बड़ा फैसला अकेले कैसे कर लिया? एक बार भी मुझसे इस बारे में बात करना तुम्हें जरूरी नहीं समझा? अपने पिता के सवालों को सुनकर संजय दत्त ने बताया कि मेरी रगों में भी मुसलमान का खून दौड़ रहा है. आपको तो पता ही है कि मुंबई में मुसलमानों के ऊपर बम धमाके किए जा रहे हैं. और बाबरी मुस्लिम विवादों के चलते अनेकों मुस्लिमों की जान खतरे में आ चुकी है. सुनील दत्त अपनी बेटी की बातों को सुनकर गले लगा कर रोने लगे. जब संजय दत्त के ऊपर मुंबई धमाके का आरोप लगाया था. उन्हें 6 साल की सजा सुना दी गई थी. इस समय अभिनेता संजय दत्त लंबे समय तक सुर्खियों में बने रहे. इन संकट भारी परिस्थितियों में संजय दत्त का साथ उनके परिवार वालों ने दिया.

लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें लेखक यासीर द्वारा लिखी गई किताब पर संजय दत्त ने कानूनी कार्रवाई करने के लिए कहा है. संजय दत्त का कहना है कि इस किताब में लिखी हुई अनेकों बातें मनगढ़ंत है. उन्होंने कहा है कि यह किताब जरूर मेरे जीवन पर आधारित है लेकिन एक बात को बढ़ा चढ़ाकर बताया गया है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top