Breaking News
Home / खबर / मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर हमला 5 जवान शहीद CO की पत्नी और बेटे की भी मौत

मणिपुर में असम राइफल्स के काफिले पर हमला 5 जवान शहीद CO की पत्नी और बेटे की भी मौत

खबरों के अनुसार मणिपुर में शनिवार 13 नवंबर को सुबह 10:00 बजे के समय 46 असम राइफल के कॉमेडी आफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी को निशाना बनाकर उनके काफिले पर हमला बोल दिया. इस हमले में कमांडिंग अफसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी उनकी पत्नी और 9 साल के बेटे ने मौके पर ही दम तोड़ दिया. चार और जवान शहीद हो गए कुल 7 जानें चली गई.

अब तक इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है. लेकिन कहा जा रहा है कि इसे अंजाम दिया है इंडिया टुडे के अनुसार घटना मणिपुर के चुरा चांदपुर जिले के सिंगार के आतंकियों ने इस हमले को उस समय अंजाम दिया जब से आसाम रायफल्स के कमांडिंग आफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी बार-बार काम से वापस लौट रहे थे. उस समय उनके काफिले में उनका परिवार भी मौजूद आतंकियों को उनकी पूरी जानकारी चाहिए.पूरी रणनीति के तहत घाट के काफिले को निशाना बना लिया गया.

मणिपुर सीएम बिरेन सिंह ने ट्वीट किया है.

” 46 असम राइफल के काफिले पर  कायरतापूर्ण हमले की कड़ी निंदा करता हूं. उसमें CO और उनके परिवार सहित कुछ कर्मियों की मौत हो गई. राज्य के बल और अर्धसैनिक बल पहले से ही आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन चला रहे हैं. दोषियों पर कड़ी कार्रवाई होगी.मणिपुर के चुराचांदपुर में उसके काफिले पर कायराना हमला बेहद दर्दनाक और निंदनीय है और उनके परिवार के दो सदस्यों सहित पांच बहादुर सैनिकों को खो दिया है. परिवार के प्रति संवेदना जल्द ही दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होगी.

इस मामले में राहुल गांधी ने भी अपनी प्रतिक्रिया जताई उन्होंने ट्वीट करते हुए पीएम मोदी पर निशाना साधा.
उन्होंने लिखा,” मणिपुर में सेना के खिलाफ काफिले पर हुए आतंकी हमले से एक बार फिर साबित होता है कि मोदी सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा करने में असमर्थ है शहीदों को मेरी श्रद्धांजलि व उनके परिवार जनों को शोक संवेदना है देश के बलिदान को याद रखेगा”.

News एजेंसी ANI  मी A1 सेना अधिकारी के हवाले से बताया कि आतंकियों ने पहले कमांडिंग आफिसर कर्नल विप्लव त्रिपाठी के काफिले पर घात लगाकर हमला करने के लिए एलईडी ब्लास्ट किया उसके बाद वहां आने पर फायरिंग की दैनिक भास्कर की खबर के अनुसार असम राइफल्स के कमांडिंग आफिसर कर्नल त्रिपाठी छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले के रहने वाले थे. असम राइफल्स में लेफ्टिनेंट कमांडर रहे त्रिपाठी को डिफेंस स्टडी मे M. SC एमएससी करने के बाद प्रमोशन मिला था. कर्नल त्रिपाठी ने 8वीं तक की पढ़ाई छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में की थी उनके छोटे भाई का नाम अनिल त्रिपाठी है वह सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल है. उनके दादा संग्राम सेनानी थे.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *