खबर

युद्ध में पाकिस्तान को मात देने वाले कर्नल धर्मवीर का हुआ निधन ,फिल्म बॉर्डर में अक्षय खन्ना ने निभाया था इनका किरदार

1998 में जेपी दत्ता द्वारा निर्देशित फिल्म बॉर्डर में जिस किरदार को सबसे ज्यादा तारीफें मिली, वह किरदार था अक्षय खन्ना द्वारा निभाया गया कर्नन धर्मवीर का.फिल्म के अंत में धर्मवीर को शहीद बताया गया था.लेकिन धर्मवीर उस समय जीवित थे.अब 1971 में पाकिस्तान के साथ लोंगेवाला युद्ध के हीरो रहे कर्नल धर्मवीर का सोमवार को गुरुग्राम में निधन हो गया.

धर्मवीर सिंह 1971 में पाकिस्तान के खिलाफ उस युद्ध का हिस्सा थे, जिसकी एक छोटी सी टुकड़ी ने पाकिस्तान की भारी भरकम सेना को घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया था.उस समय धर्मवीर सिंह लेफ्टिनेंट के रूप में जैसलमेर स्थित लोंगेवाला पोस्ट पर तैनात थे.4 दिसंबर को बॉर्डर पेट्रोलिंग के वक्त उन्हें भारत आते हुए पाकिस्तान के टैंकों की आवाज सुनाई दी. उस वक्त वे कैप्टन थे. इसकी जानकारी उन्होंने सीनियर अफसरों को दी और अतिरिक्त सेना की तैनाती की मांग की. अहम जानकारी मिलने के बाद भारतीय सेना और एयरफोर्स ने जरूरी कदम उठाए.

1971 में भारत-पाकिस्तान के बीच युद्ध छिड़ा तो 3 दिसंबर को करीब रात 12 बजे पाकिस्तानी सैनिकों ने 65 टैंकों के साथ जैसलमेर स्थित लोंगेवाला पोस्ट पर हमला बोल दिया.पोस्ट पर तैनात कर्नल धर्मवीर को इसकी भनक लगी तो उन्होंने तुरंत मेजर चांदपुरी को इसकी खबर की और सेना को भी अलर्ट कर दिया.उस समय पोस्ट पर धर्मवीर के नेतृत्व में भारतीय सेना की छोटी सी टुकड़ी मौजूद थे,

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

जिसमें करीब 20-22 सैनिक रहे होंगे.वायुसेना रात के वक्त मदद नहीं कर सकती थी.पाकिस्तानी सेना आगे बढ़ती जा रही थी और गोले दाग रही थी.ऐसे में कर्नल धर्मवीर के पास दो ही विकल्प थे- या तो वे सुबह होने का इंतजार करते या फिर पाकिस्तानी सेना का डटकर मुकाबला करते.उन्होंने बिना सोचे दूसरा विकल्प चुना और अपनी छोटी सी टुकड़ी के साथ पाकिस्तान सेना को रातभर उलझाए रखा.

 

 

 

 

 

 

 

पाकिस्तानी सेना ने अंधेरे का फायदा उठाकर हमला बोला था.कर्नल धर्मवीर ने ऐंटी टैंक माइन्स बिछाकर पाकिस्तान सेना के टैंक उड़ा दिए.आर्टरी फायरिंग की, ऐंटी टैंक गन से दुश्मनों को निशाना बनाया.भारतीय सेना ने पूरी रात दुश्मनों को आगे नहीं बढ़ने दिया.सुबह होते ही वायुसेना ने की मदद से दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब दिया गया.इस तरह कर्नल धर्मवीर सिंह के नेतृत्व में छोटी सी टुकड़ी ने पाकिस्तानी सेना के छ्क्के छुड़ा दिए थे

To Top