खास

किसान के बेटे ने पेश की मिशाल 11 बार सरकारी नौकरी ठुकराने के बाद बन गया आईएस अफसर

हर व्यक्ति का अपने जीवन में कोई न कोई उद्देश्य होता है चाहे वह उद्देश्य अपने किसी सरकारी नौकरी के लिए हो या किसी और फिल्ड मे जाने का हों आपका लक्ष्य और उद्देश्य आपके सामने होना चाहिए फिर बस आपके सपने साकार होने में कोई कमी नही आएगी सरकारी नौकरी हर व्यक्ति पाना चाहता है मगर इतनी आसान नहीं है काफी कठिन संघर्षों के बाद सरकारी नौकरी मिल पाती है,

अक्सर ऐसा भी होता है एक बार सरकारी नौकरी लग जाने के बाद व्यक्ति अपने आपको उसी हद तक सीमित कर लेता है और पूरे जीवन एक ही नौकरी करके जीवन गुजार देता है,जीवन में लक्ष्य का होना बहुत जरूरी है अगर आपने अपने मन मे ये उद्देश्य कर लिया हैं की आपको कुछ बनना हैं जीवन मे तो आप नाकामयाब नही हों सकते भले से कठिनाई बहुत आएंगी मगर आपको आपका लक्ष्य ज़रूर मिलेगा उसी प्रकार सरकारी नौकरी की अगर कोई व्यक्ति तैयारी कर रहा है तो तो वह यही चाहेगा उसकी सरकारी नौकरी लग जाए आज आप एक बार सरकारी नौकरी लग जाएगी तो भी यह प्रयास नहीं करेगा कि आगे पढ़कर और इससे बड़ा पद मिले.

मगर राजस्थान के एक ऐसे व्यक्ति की कहानी जिसने सभी के लिए एक मिसाल कायम कर दी और यह व्यक्ति एक किसान का बेटा होते हुए एक प्रशासनिक अधिकारी बन गया राजस्थान के बीकानेर जिले के गुलुवाली गांव श्यामसुंदर बिश्नोई एक मामूली किसान के परिवार से आते हैं श्याम सुंदर के परिवार की बात करें तो उनके पिता का नाम धूड़ाराम बिश्नोई और माता का नाम सुशीला देवी है श्याम सुंदर एक मध्यम परिवार से आते हैं,

प्रारंभिक शिक्षा सरकारी स्कूल से की श्याम सुंदर की एक खासियत वे बचपन से ही पढ़ाई में अच्छे थे और बीकानेर के कॉलेज से स्नातक की परीक्षा पास की और फिर इसी कॉलेज से इन्होंने भूगोल इतिहास से m.a. B.Ed की पढ़ाई पूरी की श्यामसुंदर बताते हैं,पढ़ाई के साथ पिता के साथ खेती बाड़ी का काम भी देखते थे और पूरा परिवार खेती पर ही निर्भर हुआ करता था पिता ने शुरू से ही बहन और भाई की पढ़ाई बराबर से करवाई श्याम सुंदर के दो भाई और एक बहन है,

घर से पढ़ाई का माहौल अच्छा रहा उसका असर परिवार वालों पर भी दिखा श्याम सुंदर का छोटा भाई राजस्थान पुलिस में कांस्टेबल है वही श्याम सुंदर का दूसरा भाई प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा है श्याम सुंदर की पत्नी भी काफी पढ़ी लिखी है उनका नाम मनीष बिश्नोई हैं मनीष ने भी बीएड m.a. की पढ़ाई पूरी की है और साथी एलएलबी भी किया है श्याम सुंदर की एक बेटी है जो कि 3 साल की है.

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

To Top