Breaking News
Home / खबर / शाहरुख खान और आर्यन के बीच रही कांच की दीवार, जानें- जेल के अंदर क्या-क्या हुआ

शाहरुख खान और आर्यन के बीच रही कांच की दीवार, जानें- जेल के अंदर क्या-क्या हुआ

आर्यन खान के ड्रग केस में फंसने के बाद उनके पिता शाहरुख पहली बार उनसे मिलने जेल पहुंचे थे.हालांकि इस दौरान दोनों के बीच कांच की दीवार रही.शाहरुख और आर्यन की बातचीत 15 से 20 मिनट तक चली.दोनों ने इंटरकॉम पर बात की.आर्यन मुंबई की आर्थर रोड जेल में हैं और आज वहां विजिटर्स डे था.रिपोर्ट हैं कि NDPS कोर्ट में आर्यन की जमानत याचिका खारिज होने के बाद उन्हें स्पेशल बैरक में शिफ्ट कर दिया है.

सुपरस्टार शाहरुख खान अपने बेटे आर्यन से मिलने गुरुवार सुबह 9 बजे के करीब आर्थर जेल पहुंचे थे.आर्यन के अरेस्ट होने के बाद शाहरुख और गौरी अब तक वीडियो कॉल पर बात कर रहे थे.Midday की रिपोर्ट के मुताबिक, जेल अथॉरिटी ने बताया कि जेल में आज विजिटर्स डे था.शाहरुख एक सामान्य विजिटर के तौर पर आए.एंट्री गेट पर उन्होंने परिचय पत्र दिखाया.इसके बाद जेल के मैनुअल के मुताबिक, वह 15-20 मिनट की मुलाकात के लिए अंदर गए.शाहरुख और आर्यन ने इंटरकॉम पर बात की,

क्योंकि जेल में अंदर ग्लास फेन्सिंग (कांच की चाहरदीवारी) लगी हुई है.मुलाकात के वक्त 4 गार्ड्स भी मौजूद रहे।रिपोर्ट्स ये भी हैं कि शाहरुख ने जेल अथॉरिटी से पूछा कि क्या आर्यन को घर का खाना दे सकते हैं? देश के सभी जेल सुरक्षा के लिए आने वाले समय में ये इंटरकॉम सर्विस शुरू कर दी जाएगी .तिहाड़ जेल की तर्ज पर आने वाले दिनों में इंटरकाम सिस्टम से जेलों में बंदियों से मुलाकात होगी.जेल में इंटरकाम लगने से मुलाकात की व्यवस्था बदल जाएगी.सूत्रों का कहना है कि बंदी-मुलाकाती के बीच शीशे की एक दीवार होगी.मुलाकाती इंटरकाम सिस्टम के जरिए बंदी से सीधे बात करेंगे.आमने-सामने होने के बाद उन्हें छू नहीं पाएंगे.

हाई फ्रीक्वेंसी के जैमर लगने के बाद जेल में मोबाइल बंद हो जाएगा.ऐसे में जेल के अंदर किसी भी प्रकार की घटना होने पर जेलकर्मी सीधे संदेश बाहर भेज देगा.चौबीस घंटे जेलकर्मी कनेक्ट रहेंगे, जिससे कारागार की आंतरिक सुरक्षा भी मजबूत होगी.इंटरकाम की मंजूरी मिल गई है.इससे जेल की आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था मजबूत होगी.आने वाले दिनों में इसकी उपयोगिता और बढ़ेगी.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *