Breaking News
Home / खबर / मां-पापा के बगल में हमेशा के लिए सोया गया सुपरस्टार, पिता का शव देख निकल गई बेटियों की चीख

मां-पापा के बगल में हमेशा के लिए सोया गया सुपरस्टार, पिता का शव देख निकल गई बेटियों की चीख

पुनीत राजकुमार का शुक्रवार को हार्ट अटैक के चलते निधन हो गया,करीब दो दिन बाद आज यानी 31 अक्टूबर को एक्टर का अंतिम संस्कार किया गया,दरअसल, एक्टर की एक बेटी वंदिता अमेरिका में रह रही थी जिसके चलते वो वह शनिवार देर शाम अपने घर पहुंची,वंदिता को दिल्ली से बैंगलुरु तक पहुंचाने के लिए स्टेट अथॉरिटी ने एक स्पेशल विमान की व्यवस्था की है!

 

आज सुबह करीब 9 बजे पुनीत राजकुमार का अंतिम संस्कार किया गया,सोशल मीड़िया पर अंतिम संस्कार की कुछ तस्वीरें और वीडियो वायरल हो रहा है,जो हर किसी को काफी भावुक कर रहे ही,पुनीत राजकुमार की पत्नी और बेटियों की हाल बहुत खराब है और उन्हें संभालना हर किसी के लिए काफी मुश्किल साबित हो रहा है,पिता का पार्थिव शरीर देख एक्टर की बेटियों सिस्क सिस्क कर रोती नजर आ रही हैं,वहीं एक्टर की पत्नी अश्विनी रेवंत भी पति को आखिरी बार देख फूट-फूट को रोती नजर आई!

पुनीत राजकुमार अपने पीछे अपनी पत्नी अश्विनी रेवंत और दो बेटियों को पीछे छोड़ गए हैं,पुनीत राजकुमार और अश्विनी रेवंत की शादी साल 1999 में हुई थी,पुनीत राजकुमार और अश्विनी रेवंत एक कॉमन फ्रेंड के जरिए मिले थे,अश्विनी को देखते हुए पुनीत राजकुमार अपना दिल हार गए थे,पुनीत राजकुमार और अश्विनी रेवंत के बीच जल्दी ही दोस्ती हो गई,साथ ही दोनों को जल्दी ही इस बात का एहसास हो गया कि दोनों एक दूसरे के लिए बने हैं!

अपने चहेते स्टार को अंतिम विदाई देने बालाकृष्ण, जूनियर एनटीआर भी पहुंचे,इस दौरान दोनों पुनीत के पार्थिव शरीर को देख रो पड़े,कांतीरवा स्टेडियम में इस वक्त हजारों की संख्या में भीड़ जमा हुई,सभी अपने चहेते स्टार की आखिरी झलक के लिए बेताब थे,पुनीत राजकुमार के अंतिम दर्शन के लिए कर्नाटक के गवर्नर थावरचंद गहलोत और मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई भी पहुंचे,फैंस की भीड़ को देखते हुए पुनीत राजुकमार के पार्थिव शरीर को रविवार सुबह-सुबह ही कांतीरावा स्टेडियम से कांतीरावा स्टूडियो ले जाया गया,उनके शव को फूलों से सजे वाहन में रखकर कांतीरावा स्टूडियो लाया गय!

पुनीत राजकुमार ने एक इंटरव्यू में बताया था कि वो अपनी शादी की बात घरवालों के सामने रखते हुए बुरी तरह कांप रहे थे,उन्होंने डर-डर कर घरवालों को अश्विनी से शादी की इच्छा के बारे में बताया,पुनीत राजकुमार का परिवार दोनों की शादी के लिए मान गया और 1 दिसंबर 1999 के दिन दोनों की ग्रैंड वेडिंग हुई!पिता की ही तरह पुनीत राजकुमार की भी आंखें दान कर दी गई हैं,पुनीत कुमार के पिता और प्रसिद्ध दक्षिण अभिनेता डॉ राजकुमार ने खुद 1994 में अपने पूरे परिवार की आंखों को दान करने का फैसला किया था

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *