Breaking News
Home / कुछ हटकर / इतने बदल चुके हैं भारत के ये 10 लोकप्रिय पत्रकार

इतने बदल चुके हैं भारत के ये 10 लोकप्रिय पत्रकार

मैं आज आपको यहाँ हिन्दुस्तान के कुछ बेहद बेहतरीन न्यूज़ एंकर की सैलरी यानि वेतन यानि इनकम बताने वाली हूँ जो हिन्दुस्तान में पत्रकारिता जगत पर राज करते हैं. बहुत कम लोग ऐसे होंगे जो न्यूज़ सुनते हों और उन्होंने इनमें से किसी एक का भी नाम ना सुना हो जिनका कि जिक्र मैं करने जा रही हूँ. सभी ने ही कभी ना कभी इनका नाम जरूर सुना होगा. आप इस ब्लोग्पोस्ट को पूरा पढ़ें. इस ब्लोग्पोस्ट में आप ये जानेंगे कि किस न्यूज़ एंकर की पहले क्या पोस्ट थी ? और अभी किस जगह पर है इसी के साथ इनकी कमाई कितनी है ? तो आईये शुरू करते हैं

1. सुधीर चौधरी

DNA फेम सुधीर चौधरी का पत्रकारिता का सफर जी न्यूज से ही प्रारम्भ हुआ था और आज वे जी न्यूज के एडिटर इन चीफ हैं,सुधीर चौधरी जी न्यूज़ चैनल के पत्रकार हैं. उनकी एक महीने की कमाई यानि सैलरी 30 लाख रुपये हैं.इनके बोलने का अन्दाज बेहद अलग हैं.ये कुछ इस तरह ठहरकर बोलते हैं कि इनका बोला हुआ एक-एक शब्द किसी को भी आसानी से समझ आ जाए.

2. रजत शर्मा-

‘आपकी अदालत’ से अपनी पेहचान बनाने वाले रजत शर्मा आज इंडिया टीवी के एडिटर इन चीफ बन चुके हैं.उनका शो ‘आज की बात’, प्राईम टाईम के सबसे अधिक देखे जाने वाले शो में से एक हैं,इन्हें कौन है जो नही जानता? ये “आप की अदालत” के नामी वकील हैं. ये मीठा बोलते हैं और सब कुछ बहुत ही चतुराई से उगलवा लेने में माहिर भी हैं. ये महाशय इंडिया टीवी के मालिक हैं. इनकी कमाई 30 लाख रूपये प्रतिमाह है. इनकी चतुराई ये है कि ये इतने शालीन तरीके से धीमी आवाज में सवाल पूछने के माहिर हैं कि सामने वाला ना चाहते हुए भी सच बताने को तैयार हो जाता है.

3. बरखा दत्त

NDTV के लिए काम कर चुकी बरखा दत्त ने कारगिल युद्ध की रिपोर्टिंग करके पूरी दुनिया में अपनी एक अलग पहचान बनाई हैं। एक सामान्य पत्रकार से देश की सबसे प्रचलित पत्रकार बनने का उनका सफर हम सबने देखा हैं,ये भी हिन्दुस्तान की बेहतरीन पत्रकार हैं. आपने इन्हें नितिन गडकरी का इंटरव्यू करते देखा होगा. इनकी एक महीने की कमाई 30 लाख रूपये है.अगर मैं अपनी यानि विशाल गुप्ता की राय की बात करूँ तो बरखा दत्त स्टाइलिश पत्रकार हैं. वो भी, जैसे कि मैंने ऊपर भी जिक्र किया है, पत्रकारिता होने की गरिमा को गंभीरता से निभाने की पक्षकार दिखती हैं और इसी क्रम में उनका लहजा,उनके सवाल सब होते हैं.

4. राजदीप सरदेसाई

राजदीप सरदेसाई इंडिया टुडे ग्रुप के सम्मानीय सदस्य हैं.वे इंडिया टुडे के कन्सल्टिंग एडिटर भी रह चुके है.राजदीप पत्रकारिता जगत के जाने माने एंकर हैं,इनका कद पत्रकारिता जगत में बड़ा माना जाता है.इनकी सैलरी 80 लाख रूपये प्रति माह हैं. इन्हें थोड़े से तीखे अन्दाज में स्पष्ट बात कह देने का हुनर हासिल है.इनमें भी मुझे वो भावना लगती है कि ये मानते है कि इन्हें पत्रकार होने की भूमिका से हर वक्त न्याय करना चाहिये और शायद इसीलिये इनका अन्दाज कभी-कभी थोडा-थोडा तीखा हो जाता है. लेकिन जो भी हो,पत्रकारिता जगत में इनका बहुत नाम है .

5. अर्नब गोस्वामी

अपनी एग्रेसिव इस्टाइल पत्रकारिता के लिये जाने जाने वाले अर्नब ने कई मीडिया हाउसेस के लिये काम किया हैं,.आज उनका खुद का चैनल – रिपब्लिक भारत हैं, जिसमें वे अपने तरीके की पत्रकारिता पर जोर देते हैं,चूँकि ये महाशय इंग्लिश बोलने में बेहद माहिर हैं और इसीलिये जब उन्होंने अपना चैनल रिपब्लिक टीवी खोला तो ये महाशय हिन्दुस्तान में छा गए. इनकी एक महीने की कमाई हैं पूरे 1 करोड़ रुपये जो कि हिन्दुस्तान में सबसे ज्यादा है. एक कमाल की बात मुझे जो अर्नब गोस्वामी के बारे में लगती है, वो ये हैं कि वो जो भी सवाल करते है, बिल्कुल निर्भीक होकर करते हैं जैसे लोकतन्त्र का चौथा स्तम्भ बाकी तीन स्तम्भों के सामने खड़ा होकर सवाल पूछ रहा हो. उन्हें देखकर ये जरूर लगता है कि वो सचमुच पत्रकारिता की ताकत से बहुत ज्यादा वाकिफ हैं.

6. अंजना ओम कश्यप

आज तक का जाना माना चेहरा, अंजना ओम कश्यप को अपनी निर्भीक पत्रकारिता के लिये जाना जाता हैं। बीते सालों में उनमें व उनकी पत्रकारिता में कफी बदलाव नजर आए हैं.अंजना ओम कश्यप आज तक चैनल की बेहतरीन पत्रकार है. उनकी एक महीने की कमाई यानि सैलरी 25 लाख रूपये हैं. ये बहुत ही निर्भीक होकर बात करती हैं. इनका प्रोग्राम “हल्ला बोल” और आज तक विशेष रिपोर्ट के लिये मशहूर हैं. अंजना ओम कश्यप बहुत बेबाकी से स्पष्ट सवाल पूछने के लिये भी जानी जाती हैं.

7. अजीत अंजुम

अजीत अंजुम को एक गुणी और तेज़ पत्रकार माना जाता है,जो अपने सवलों से अच्छे अच्छों की बोलती बंद कर देते हैं.उन्होंने न्यूज 24 औरत इंडिया टीवी के लिये मैनेजिंग एडिटर का कार्य किया हैं,अजीत अंजुम का जन्म 7 अप्रैल 1969 को बिहार के बेगूसराय जिले में हुआ था.प्रारम्भिक शिक्षा बेगूसराय और दरभंगा में हासिल करने के पश्चात इन्होंने बिहार विश्वविद्यालय से संबद्ध लंगट सिंह महाविद्यालय, मुजफ्फरपुर से ग्रेजुएशन किया.अजीत अंजुम के पिता रामसागर प्रसाद सिंह बिहार न्यायिक सेवा से संबद्ध थे और पटना के जिला एवं सत्र न्यायाधीश के पद से सेवानिवृत्त हुए.अजीत ने पत्रकारिता की शुरुआत मुजफ्फरपुर में अध्ययन के दौरान ही कर दी थी.पाटलिपुत्र टाइम्स के लिए मुफस्सिल संवाददाता के रुप में लेख लिखते हुए इन्होंने अपना नाम ‘अजीत कुमार’ से बदलकर अजीत अंजुम कर लिया.पटना में फ्रीलांसिग करते हुए अजीत ने मुंबई और दिल्ली से प्रकाशित होने वाले धर्मयुग, साप्ताहिक हिंदुस्तान, दिनमान और रविवार में लिखते हुए अपनी कलम को धार दी.अजीत सन् 1989 में पत्रकारिता में नई जमीन की तलाश में दिल्ली आ गए और लंबे संघर्ष के पश्चात ‘अमर उजाला’ में डेस्क पर इनको नियुक्ति मिल गई.बाद में ‘चौथी दुनिया’ में काम करते हुए अजीत के लेख जनसत्ता में भी छपने लगे.1994 में अजीत अंजुम प्रिंट मीडिया को अलविदा कहकर अनुराधा प्रसाद की कंपनी ‘बीएजी फिल्म्स’ से जुड़ गए जहां उन्हें राजीव शुक्ला के चर्चित टॉक शो ‘रूबरू’ के निर्देशन की जिम्मेदारी मिली.उन्होंने अपने करियर का सबसे लंबा वक्त ‘बीएजी फिल्म्स’ में ही बिताया.इस दौरान उन्होंने दर्जनों शो प्रोड्यूस किए.एक साल के लिए अजीत अंजुम बतौर सीनियर प्रोड्यूसर ‘आजतक’ में रहे लेकिन फिर ‘बीएजी फिल्म्स’ वापस लौट आए.साल 2007 में अजीत अंजुम के निर्देशन में ही ‘न्यूज़ 24’ समाचार चैनल शुरू हुआ.अजीत लंबे समय तक न्यूज 24 के प्रबंध संपादक रहे जिसके बाद उन्होंने ‘इंडिया टीवी’ को अपनी सेवाएं दी.मुज़फ़्फ़रपुर में स्नातक के दौरान, अजीत अंजुम ने लिखने और पढ़ने में रुचि लेना शुरू किया, उस समय उनका नाम अजीत कुमार था लेकिन यह नाम बहुत ही सामान्य था इसी कारण उन्होंने अपना नाम अजीत कुमार से बदलकर अजीत अंजुम रख लिया.

8. श्वेता सिंह

आज तक और इंडिया टुडे ग्रुप का एक औरत प्रमुख चेहरा,श्वेता सिंह को कौन नहीं जानता.श्वेता को सबसे अधिक देश प्रेम सम्बन्धी कार्यक्रमों को होस्ट करते देखा गया हैं.श्वेता सिंह भी आज तक की नामी पत्रकार हैं. उनकी एक महीने की कमाई भी 25 लाख रूपये है यानि वो एक महीने में आज तक से 25 लाख रूपये सैलरी पाती हैं. इनकी आवाज भी एक अलग ही अन्दाज वाली है और इनका व्यक्तित्व भी. इन्हें अपने कपिल शर्मा शो के स्टेज पर भी देखा होगा. ये शालीन पत्रकारिता के बेहतरीन उदाहरणों में से एक हैं.

9. दीपक चौरसिया

दीपक चौरसिया “इंडिया न्यूज़” चैनल के जाने माने एंकर है,उन्होंने 2003 में कंसल्टिंग एडिटर के रूप में जुड़े, फिर उन्होंने 2004 में आज तक को ज्वाइन किया फिर उन्होंने आज तक को छोड़कर स्टार न्यूज़ में काम शुरू किया जिसे ABP न्यूज़ भी कहते है, फिर बाद में 2013 में उन्होंने INDIA NEWS चैनल में editor-इन-चीफ बने. फिर उन्होंने 2019 में इंडिया न्यूज़ को छोड़कर न्यूज़ नेशन चैनल में काम करना शुरू किया.दोस्तों दीपक चौरसिया की एक महीने की सैलरी 15 लाख है.और उनकी एनुअल कमाई 1.80 करोड़ है.

10. रवीश कुमार

NDTV के रवीश कुमार भारत के सबसे लोकप्रिय पत्रकारों में से एक हैं,उन्हें पत्रकारिता जगत के प्रख्यात ‘रमन मैगसेसे पुरस्कार’ से भी सम्मानित किया गया हैं,रविश कुमार खासे मशहूर हैं हिन्दुस्तान में. निष्पक्ष पत्रकारिता का जब जिक्र होता है तो रविश कुमार का नाम सबसे ऊपर आता हैं . उनका अन्दाज कभी देखियेगा कि बोलते चले जाते हैं और जो कुछ भी लोकतन्त्र में गलत है, वो इनके शब्दों में खुद-ब-खुद आता चला जाता है. ये इनकी पत्रकारिता की खूबसूरती है. जहाँ तक इनकी सैलरी की बात है तो वो 25 लाख रुपये प्रति माह है.
तो दोस्तों,ये मैंने आपको हिन्दुस्तान के कुछ बेहद मशहूर पत्रकारों के बारे में बताया.ये जो भी जानकारी मैंने आपको दी, वो मैंने Google Search करके और फिर जानकारी एकत्र करके ही आपको दी है और कोशिश की है कि जानकारी में किसी भी तरह की कमी ना हो.ये सभी देश का नाम ऊँचा कर रहे हैं, बेहतरीन पत्रकारिता कर रहे हैं, ये बात अपने आप में खास है

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *