Breaking News
Home / खबर / खून की उल्टियां होती रही लेकिन ड्राइवर ने नहीं छोड़ी बस की स्टेरिंग 56 यात्रियों जिंदगी बचाते ही तोड़ा दम

खून की उल्टियां होती रही लेकिन ड्राइवर ने नहीं छोड़ी बस की स्टेरिंग 56 यात्रियों जिंदगी बचाते ही तोड़ा दम

हम आपसे एक ऐसा किस्सा साझा करेंगे जिसे सुनने के बाद आप की भी रूह कांप जाए. एक ऐसा मामला सामने आया है जहां पर एक ड्राइवर ने अपनी समझ बूझ से एक या दो नहीं बल्कि पूरे 56 यात्रियों की जिंदगी बचाई.एक ड्राइवर ने अपनी अकल मंदी से एक बहुत बड़ा हादसा होने से रोक लिया 56 लोगों की जान भी बचा ली.

आपको बता दें आगरा लखनऊ एक्सप्रेस जौनपुर से दिल्ली जा रही रोडवेज बस के ड्राइवर की अचानक से तबीयत बिगड़ गई उस ड्राइवर ने तुरंत अपनी समझ दिखाई बस की स्पीड कम की और फौरन बस को साइड में लगा दिया लेकिन ड्राइवर ने बस की खिड़की खोली तो उसे खून की उल्टी आई.उसने वहीं पर दम तोड़ दिया.

बस देर रात जौनपुर से दिल्ली के लिए सवारियां लेकर जा रही थी. जब ड्राइवर की तबीयत ज्यादा खराब हो गई तब सवारियों में एक परेशानी और हड़कंप का माहौल बन गया ऐसे में भी किसी तरह बस ड्राइवर ने अपने आप को संभाल रखा फिर बस को धीरे किया किनारे पर रोक दिया.बस में सवार 56 सवारियों की जान बचाई. इसके बाद मामले की खबर मिलने पर एनसीसी पेट्रोलिंग टीम ने एंबुलेंस की मदद से बस के ड्राइवर को अस्पताल पहुंचाया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

इसके पश्चात बस के कंडक्टर दीपक कुमार ने बताया बस जौनपुर के शाहगंज से दिल्ली के लिए रवाना हुई थी लखनऊ में कुछ देर ठहरने के बाद 10 किलोमीटर चलने पर कन्नौज पहुंचे जिसमें 56 यात्री सवार थे कन्नौज क्षेत्र में आगरा लखनऊ एक्सप्रेस पर 65 से 65 की स्पीड में गाड़ी चल रही थी. अचानक से ड्राइवर ने गाड़ी को रोक लिया गाड़ी का गेट खोलते ही उसने खून की उल्टियां करना शुरू कर दिया. इसके बाद वह इस दुनिया को छोड़ कर चला गया. मौके पर ही ड्राइवर संत राजूराम की मौत हो गई उस ड्राइवर की अस्पताल ले जाने के बाद डॉक्टरों ने ड्राइवर को मृत घोषित कर दिया.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *