Breaking News
Home / खबर / ट्रेन में चूहों ने कुतरा यात्री का सूटकेस, रेलवे पर लगा पांच हजार का जुर्माना, जानिए क्या है तरीका?

ट्रेन में चूहों ने कुतरा यात्री का सूटकेस, रेलवे पर लगा पांच हजार का जुर्माना, जानिए क्या है तरीका?

चूहे हमेशा घरों में कपड़ों और किसानों के अन्न भंडार का नुकसान करते हैं. लेकिन आज हम आपको इस आर्टिकल के जरिए चूंकि उस कारनामे के बारे में बताने जा रहे हैं जिसकी वजह से भारतीय रेलवे को 5000 का जुर्माना भुगतना पड़ा. जोधपुर के सूरसागर में रहने वाले महेंद्र सिंह कच्छावा रेलवे पर चूहों द्वारा सूटकेस उतरने का आरोप लगाया है. सूरसागर के रहने वाले महेंद्र सिंह 2 जनवरी 2013 को सूर्यनगरी एक्सप्रेस में यात्रा कर रहे थे.

सूर्यनगरी एक्सप्रेस महेंद्र सिंह अहमदाबाद से जोधपुर आ रहे थे.

यात्रा के दौरान महेंद्र सिंह का सूटकेस चूहों ने उत्तर दिया. जिसकी शिकायत उन्होंने ट्रेन से उतरते जोधपुर रेलवे स्टेशन पर करवाई. परंतु जोधपुर रेलवे स्टेशन के कर्मचारियों का कहना था कि यात्री अपने सामान की खुद जिम्मेदारी है. सामान की जिम्मेदारी के लिए यात्री द्वारा कोई अतिरिक्त पैसे नहीं दिए जाते हैं. लेकिन इसके बाद महेंद्र सिंह ने उनकी बात नहीं मानी और वह बार-बार शिकायत करते रहे. उन्होंने बताया कि रेल की सफाई का जिम्मा तो सरकार रेलवे के विभाग को देती है. रेल में हर तरफ कचरा फैला हुआ नजर आता है. और ऐसा लगता है यह कई महीनों से पेस्ट कंट्रोल भी नहीं हुआ है जिसकी वजह से ट्रेन में चूहे हो गए हैं. और इन्होंने मेरा सूटकेस कुतरा उतरा है. और यह शिकायत जोधपुर उपभोक्ता मंच के सदस्य आनंद सिंह सोलंकी ने डीआरएम रेलवे को महेंद्र सिंह के सूटकेस कुतर ने की शिकायत की थी.

महेंद्र सिंह ने रेलवे आयोग के समक्ष अपनी शिकायतें पेश की. महेंद्र सिंह की शिकायत को रेलवे आयोग के अध्यक्ष डॉ श्याम सुंदर लाटा, और रेलवे आयोग की अध्यक्ष अनुराधा व्यास, आनंद सिंह सोलंकी ने सुनी. इन तीनों के मतानुसार महेंद्र सिंह द्वारा रेलवे के खिलाफ दिखाई गई बात बिल्कुल सही है. सरकार यात्री को अपने साथ सामान ले जाने की आज्ञा देती है और इसी के साथ उसे किराया भी वसूला जाता है. यात्री के साथ सामान की जिम्मेदारी भी रेलवे विभाग की होती है. रेलवे के कोच में गंदगी और पेस्ट कंट्रोल नहीं होने वजह से चूहों ने महेंद्र सिंह का सूटकेस कुतर दिया है. और इस नुकसान का खर्च जोधपुर रेलवे विभाग द्वारा दिया जाएगा. महेंद्र सिंह को अपने सूटकेस को चूहों द्वारा कुतर ने पर जोधपुर रेलवे विभाग द्वारा 5000 का जुर्माना हासिल हुआ. महेंद्र सिंह के सूटकेस की कीमत 2790 थी. लेकिन रेलवे आयोग की गलती और लापरवाही की वजह से महेंद्र सिंह को शारीरिक और मानसिक रूप से परेशानियों का सामना करना पड़ा.

महेंद्र सिंह की शारीरिक और मानसिक रूप से परेशानियों को देखते हुए रेलवे ने उन्हें 5000 का जुर्माना दिया. आपकी जानकारी के लिए बता दें जोधपुर रेलवे आयोग ने सफाई कर्मचारी के ठेकेदार पर भी सफाई ना करने और अपने काम में लापरवाही बरतने के कारण जुर्माना लगाया है.यह पहली बार नहीं है कि चूहों के द्वारा किसी को शारीरिक और मानसिक रूप से परेशानी का सामना करना पड़ा है. चूहे किसानों द्वारा उगाए गए फसल और अन्न भंडार का नुकसान करते हैं. हॉस्पिटल में भी लोगों को चूहों की वजह से परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

 

SORCE

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *