Breaking News
Home / खबर / देश का वो गाँव जहा महिलाओं के कद से लंबे हैं उनके बाल ,पूरी जिंदगी में सिर्फ एक बार काटती है अपने बाल

देश का वो गाँव जहा महिलाओं के कद से लंबे हैं उनके बाल ,पूरी जिंदगी में सिर्फ एक बार काटती है अपने बाल

इस संसार में बहुत सी जगह ऐसी हैं जहां की कोई ना कोई चीज जरूर फेमस हुआ करती है और वह जगह अपनी उस वस्तु के लिए ही जानी पहचानी जाने लगती है. उस चीज के लिए उस जगह को भी खास महत्व हो जाता है. ऐसी ही आज हम आपसे दक्षिण चीन की एक गांव की महिलाओं के लंबे बालों को लेकर चर्चा करेंगे. जहां पर महिलाओं के बाल उनके कद से भी लंबे होते हैं तो आइए हम आपसे विस्तार पूर्वक चर्चा करते हैं.

आपको बता दें दक्षिण चीन साउथ चाइना में हुआंगलुओ गांव खास कारण से मशहूर है यहां की महिलाओं के बाल उनके कद से भी लंबे होते हैं. इसी कारण इस गांव का नाम (Guinness World Record  world longest hair village) इस गांव की महिलाओं के बाल उनके कद से लंबे होने के कारण उनका नाम इस रिकॉर्ड में शामिल है. खबरों की मानें तो यहां की महिलाओं के बाल 5 फीट लंबे होते हैं. कुछ महिलाओं के बाल 6 फीट तक लंबे हो जाते हैं. हैरान करने वाली बात यह है यहां की महिलाओं के बाल 1 किलो तक भारी भी होते हैं.

ज़्यादातर महिलाओ को यही शौख होता है उनके बाल घने और काले और लंबे हो मगर शहरों के बढ़ते प्रदूषण खारा पानी चिंता परेशानियों खान-पान के कारण पुरुष और महिलाओं के बालों की वह ग्रोथ नहीं हो पाती. ऐसे में गिरते बालों के लिए तरह-तरह के उपाय करते हैं. कभी अपना हेयर ट्रीटमेंट कभी शैम्पू बदलते हैं. फिर भी महिलाओं के बाल लंबे नहीं हो पाते. यह चीन का गांव इस कारण से ही काफी प्रसिद्ध है यहां की महिलाओं के बाल बहुत ज्यादा लंबे होते हैं. दक्षिण चीन के गुइलिन शहर से 2 घंटे की दूरी पर स्थित है. हुआंगलुओ गांव यह गांव जैसा ही है मगर इसकी खासियत यह है कि यहां की महिलाओं के बाल बहुत लंबे होते हैं कारण गांव का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में लिखा गया है. खबरों के अनुसार महिलाओं के बाल 5 फीट तक लंबे होते हैं. कुछ महिलाओं के बाल 6 फीट लंबे होते हैं.


इंडिया की खबर के अनुसार वर्ष 2004 में एक महिला के बालों की लंबाई 7 फीट नापी गई थी. हैरान करने वाली बात यह है कि यहां की महिलाओं के बाल 1किलो तक भारी होते हैं. महिलाओं के नाम से मशहूर इस गाऊ की औरतों में एक मान्यता है जिसके चलते यह अपने बाल नहीं काटती हैं. खबरों की मानें तो यहां की महिलाएं 17,18 साल की उम्र में सिर्फ एक बार अपने बालों को काटती हैं.बाल काटने की ऐसी सेरेमनी होती है जिसमें गांव के और भी लोग शामिल होते हैं अपने बाल कभी नहीं काटती हैं.बालों की देखरेख करना बहुत ज्यादा मुश्किल काम है.यहां के लोगों ने महिलाओं के बालों के लिए खास शैंपू भी बनाए हैं. जिसको औरतें अपने बालों को प्रयोग करती हैं. इसमें चाय फर और कई जड़ी बूटियां डाली जाती हैं.

बाल बढ़ने का है यह कारण
यहां महिलाओं का ऐसा विश्वास है बाल शरीर पर उगने वाली कोई चीज नहीं उनके और उनके पूर्वजों के बीच संपर्क का एक रिश्ता है. इसी कारण अपने बालों को कभी ना काटकर अपने पूर्वजों को खुश करती हैं. अविवाहित औरते अपने बाल एक स्काफ से बांध कर रखती हैं. जबकि विवाहित महिलाएं सर पर आगे की तरफ हो बड़ा सा जोड़ा बनाती हैं.आपको बता दें महिलाओं का डांस भी काफी मशहूर है यहां पर इनकी संस्कृति को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *