Breaking News
Home / क्रिकेट / विराट कोहली के इस बयान से मची सनसनी भारत के दोनों मैचों की हार का इस शख्श ठहराया जिम्मेदार

विराट कोहली के इस बयान से मची सनसनी भारत के दोनों मैचों की हार का इस शख्श ठहराया जिम्मेदार

सोमवार को कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) ने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को चार विकेट से मात देकर दूसरे क्वालीफायर में जगह बना दी,केकेआर से मिली इस हार के साथ विराट का बैंगलोर को एक बार अपनी कप्तानी में चैंपियन बनाने का सपना टूट गया,विराट अपनी कप्तानी में आरसीबी को कभी आईपीएल खिताब नहीं जिता पाए,विराट इस टूर्नामेंट के बाद आरसीबी टीम की कप्तानी छोड़ देंगे,विराट का बेशक टीम को पहला खिताब जीतने का सपना टूट गया हो,लेकिन मैच के बाद उन्होंने अपने बयान से सबका दिल जीत लिया है।विराट ने कहा,’मैंने काफी कोशिश की है ऐसी परंपरा बनाने की जहां आक्रामक क्रिकेट खेली जा सके,अभी बस इतना कह सकता हूं कि मैंने अपना बेस्ट दिया है!

मैंने यहां अपना 120 प्रतिशत दिया और मैदान पर खिताड़ी के रूप में फ्रेंचाइजी को अपना योगदान देता रहूंगा,अच्छा मौका है कि अब हम टीम को दोबारा खड़ा करें अगले तीन सालों के लिए,मैं आगे भी बैंगलोर के लिए ही खेलूंगा,मेरे लिए ईमानदारी मायने रखती है और आईपीएल मे आखिरी दिन तक इसी फ्रेंचाइजी को समर्पित रहूंगा,’टी20 विश्व कप के अपने पहले मैच में पाकिस्तान से 10 विकेट से हारने के बाद दूसरे मैच में न्यूजीलैंड से भी 8 विकेट से शर्मनाक हार के साथ ही टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में पहुंचने की उम्मीदें भी पूरी तरह खत्म हो चुकी है,भारतीय टीम के बड़े-बड़े मैच विनर इस मैच में पूरी तरह असफल रहे!

भारत का कोई भी बल्लेबाज या गेंदबाज इस मैच में कुछ नहीं कर पाए,अब सेमीफाइनल में पहुंचना लगभग असंभव है,इस हार के बाद भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने बड़ा बयान दिया है,इस हार के बाद टी20 विश्व कप सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर होने की कगार पर खड़ी भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने हार का जिम्मेदार बल्लेबाज और गेंदबाज दोनों को ठहराया है,कोहली ने कहा है कि ‘यह बहुत अजीब है,मुझे नहीं लगता कि हम बल्ले या गेंद से अपने खेल में साहस दिखा पाए,हमने रन ज्यादा नहीं बनाए लेकिन उसे बचाने के लिए भी साहस के साथ नहीं उतरे!

 

उन्होंने आगे कहा, ‘जब आप भारतीय क्रिकेट टीम के लिए खेलते हैं तो प्रशंसकों की ही नहीं बल्कि खिलाड़ियों की भी काफी अपेक्षाएं होती है,अपेक्षाएं हमेशा रहेंगी और हम इतने साल से उनका सामना करते आए हैं,भारत के लिए खेलने वाले हर खिलाड़ी को करना पड़ता है.’उन्होंने कहा, जब आप एक टीम के रूप में खेलते हैं ,

तो अपेक्षाओं का दबाव नहीं पड़ता लेकिन पिछले दो मैचों में हम ऐसा कर नहीं सके,कोहली आगे कहते हैं,सिर्फ इसलिए कि आप भारतीय टीम हैं और आपसे अपेक्षाएं हैं तो आप अलग तरह से नहीं खेल सकते.’उन्होंने कहा ‘हम ठीक हैं और अभी काफी क्रिकेट खेलना बाकी है.,उसे अब अफगानिस्तान, नामीबिया,स्कॉटलैंड से खेलना है!

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *