Breaking News
Home / Uncategorized / वफादार कुत्ते के लिए मालिक ने सजाई अर्थी, अनोखे तरीके से निकली ‘ब्राउनी’ की अंतिम यात्रा

वफादार कुत्ते के लिए मालिक ने सजाई अर्थी, अनोखे तरीके से निकली ‘ब्राउनी’ की अंतिम यात्रा

प्रकृति में मनुष्य और जानवर दोनो एक दूसरे के पूरक है.दोनो एक दूसरे के सहयोग से जिंदा है और अपनी जीवन लीला को चला रहे है.प्रकृति के कुछ अहिंसक होते है और वो मनुष्य के पालतू जानवर बनकर या वाफदर बनकर रह रहे होते है.मनुष्य जानवरो के साथ अच्छा व्यवहार करता है तो जानवर भी मनुष्य के साथ वफादारी निभाते है.आज आपको एक ऐसे मनुष्य और जानवर की कहानी बताएंगे.जो सभी के लिए एक मिशाल कायम कर चुकी है.
प्रकृति के दो महत्वपूर्ण घटको ने परस्पर सहयोग करते हुए लोगो को ये दिखा दिया कि इंसानों के सबसे वफादार उन्हे क्यों कहा जाता है.आपनी वफादारी के मशहूर कुत्ते को हर घर में एक पालतू जानवर के रूप में जाना जाता है.कुत्ता के बारे में कहा जाता है कि जिसने उसे प्यार से एक बार भी रोटी खिला दी वो उस मनुष्य का हमेशा के वफादार बना रहेगा.यह घटना है..

प्रनिया जिले की जहा पशु प्रेम की को तस्वीर सामने आती सबकी आंखें नम हो गई थी.जब उस मुख जुबान जानवर की मौत हुई तो अपने परिवार के सदस्य की तरह अंतिम संस्कार किया और अर्थी यात्रा निकली.समर शेल नेशनल पार्क कुवारा पंचायत के रामनगर में स्थित है.यह पार्क के स्थापक हिमकर मिश्रा है.जिन्होंने 15 साल पहले इस पार्क की नीव रखी थी.इतने बड़े पार्क और फार्म की की रक्षा के कि अनेक कुत्तों को पाल रखा था.इन सब कुत्तों में सबसे पहला और उनका सबसे चहेता कुत्ता था ब्राउनी.सामान्यत कुत्तों की उम्र 15 या 17 साल होती है.ब्राउनी भी अपनी उम्र के अंतिम समय में था.हीमकर मिश्रा ने अपने वफादार कूते की मौत पर काफी गमगीन हुए ओर उन्होंने उसका अंतिम संस्कार हिन्दू रीति रिवाजों के अनुसार करेगे.उनके कुत्ते की अंतिम यात्रा के बारे में सुनकर लोग का हुजूम ये देखने के उम्र पड़ा और ब्राउनी के अंतिम संस्कार में शामिल हुए.समर शेल नेशनल पार्क के स्थापक हिमकार मिश्रा ने ब्राउनी के दफनाने कि जगह को स्मारक बनाने की बात कही है.15 दिनों के अन्दर ब्राउनी का स्मारक बन कर तैयार हो जाएगा.वहा पर आने वाले लोगों को ब्राउनी की कहानियां सुनाई जाएगी ।

SORCE

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *