Breaking News
Home / बॉलीवुड / बॉलीवुड की चमक दमक छोड़ सन्यासी बन गए थे विनोद खन्ना, बीवी बच्चों का ऐसा हो गया था हाल

बॉलीवुड की चमक दमक छोड़ सन्यासी बन गए थे विनोद खन्ना, बीवी बच्चों का ऐसा हो गया था हाल

आज हम आपसे बॉलीवुड फिल्मी दुनिया के मशहूर सितारे के बारे में चर्चा करेंगे बॉलीवुड मे अपने अभिनय के दम पर आज भी याद किया जाता है जी हां हम बात कर रहे हैं एक्टर विनोद खन्ना उन्होंने बॉलीवुड दुनिया में एक से एक और शानदार हिट फिल्में कि. अपने अभिनय के दम पर पहचान बनाई अमिताभ धर्मेंद्र जैसे दिग्गज अभिनेताओं के साथ अभिनय किया. अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाया.एक्टर विनोद खन्नाएक्टर विनोद खन्ना का जन्म 6 अक्टूबर 1946 को पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था बॉलीवुड के हैंडसम और शानदार अभिनेता विनोद खन्ना ने बॉलीवुड फिल्मी दुनिया में काफी नाम कमाया.


ऐसा कहा जाता है कि विनोद खन्ना अगर बॉलीवुड फिल्मी दुनिया में अपना सफर जारी रखते हैं तो दिग्गज अभिनेता अमिताभ से भी आज ऊपर उनका नाम होता.विनोद खन्ना ने अपने फिल्मी सफर के उस मुकाम पर सन्यासी बनने का निर्णय लिया जब वह सफलता के शिखर पर पहुंच चुके थे.आज हम आपसे विनोद खन्ना के फिल्मी सफर से लेकर सन्यासी बनने तक के सफर पर चर्चा करने वाले हैं.


70 के दशक के बॉलीवुड की सुपरस्टार की श्रेणी में शामिल थे विनोद खन्ना.फिल्मो मे पॉजिटिव से नेगेटिव रोल तक एक्टर विनोद खन्ना ने बखूबी निभाए.फिल्मो मे डाकू से लेकर पुलिस स्पेक्टर तक का किरदार निभाया है. हर एक किरदार को इतनी खूबसूरती से निभाया कि मानो किरदार को निभाने वाले असल व्यक्ति वह खुद ही है.एक्टर विनोद खन्ना को डाकू  के भी किरदार में पसंद किया गया वहीं पुलिस इंस्पेक्टर के किरदार से उन्होंने एक नई छवि बनाई फिल्मी दुनिया में.

एक्टर विनोद खन्ना ने अपने फ़िल्मी दुनिया मे सफलता के शिखर पर पहुंचने के बाद से संन्यास लेने का निर्णय लिया तब सभी हैरान रह गए थे.उनके संन्यास लेने के कारण उनका पूरा परिवार बिखर गया उनकी पत्नी ने भी उनसे तलाक ले लिया.खबरों के अनुसार एक्टर विनोद खन्ना ओशो आचार्य रजनीश से काफी प्रभावित थे. वर्ष 1975 में रजनीश आश्रम में सन्यासी बन गए सन्यासी बनने से पहले एक्टर विनोद खन्ना ने आश्रम और रजनीश के काफी  वीडियो देखे जिससे विनोद खन्ना बहुत प्रभावित हो गए और उन्होंने संन्यास ले लिया.


खबरों के अनुसार विनोद खन्ना ओशो रजनीश को पृथ्वी पर भगवान का रूप मानने लगे थे.एक्टर विनोद खन्ना सोमवार से शुक्रवार बॉलीवुड में काम किया करते थे और शनिवार रविवार दो दिन आचार्य रजनीश  आश्रम जाया करते थे. अपना र समय वहां बिताते थे वहां मालि का काम भी करते थे आश्रम में रहते हुए वह बहुत सारे काम किया करते थे और वहां ध्यान भी लगाया करते थे. आश्रम में विनोद भारती के नाम से जाने जाते थे. आश्रम में विनोद खन्ना बाकी शिष्यों की तरह ही रहा करते थे.एक्टर विनोद खन्ना पर आश्रम का रजनीश आचार्य का इतना ज्यादा नशा सवार था कि वह आश्रम का चोला पहनकर ही सेट पर पहुंच जाते थे जब तक सेट तैयार नहीं होता था तब तक वह चोला नहीं उतारते थे.

विनोद खन्ना का मानना था रजनीश आचार्य धरती पर जीवित भगवान हैं इसी के बीच 80 के दशक के दौरान पुणे के आश्रम में से कई प्रकार की खबरें आने लगी जिस कारण चलते-चलते रातों-रात रज्जी रजनी जी ने अमरीका की तरह हो जाने का निर्णय लिया. वह साथ में अपने पसंदीदा शिष्य विनोद खन्ना को भी लेकर चले गए.इस कारण विनोद खन्ना ने प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाकर कह दिया कि मैं फिल्म छोड़ रहा हूं. इसके बाद वह अपने पूरे परिवार को भारत में छोड़कर अमेरिका के ओरिगान के रजनीशपुरम आश्रम में चले गए. इसके बाद विनोद खन्ना वहां आश्रम में मालि का काम करने लगे  विनोद खन्ना से संबंधित ख़बरें भी आना बंद हो गई. फिर वर्ष 1985 में विनोद खन्ना सुर्खियों में आए खबरो के अनुसार रजनीश और विनोद खन्ना के बीच मनमुटाव हो गया था. रजनीश को भी अमेरिकी सरकार ने वापस भारत भेज दिया था.

से आने के बाद विनोद खन्ना ने फिल्मी दुनिया में लौटने का निर्णय किया लोगों को बताया कि मैं ओशो के बगीचे की रखवाली करता था कपड़े धोता था बर्तन साफ करता था और उनके कपड़े पहले मुझे पहनाए जाते थे.क्योंकि हमारी कद काठी एक थी.लेकिन तब तक उनकी पत्नी ने गीतांजलि उन को तलाक दे चुकी थी और उनका पूरा परिवार बिखर चुका था.


से लौटने के बाद भी विनोद खन्ना ओशो आश्रम से जुड़े रहे वर्ष 1997 में राजनीति में कदम रखा पंजाब के गुरदासपुर लोकसभा सीट से 4 बार सांसद चुने गए इसके बाद अटल बिहारी वाजपेई सरकार में वह केंद्रीय संस्कृति पर्यटन और विदेश राज्य मंत्री भी रहे थे.
27 अप्रैल वर्ष 2017, को कैंसर की बीमारी के चलते विनोद खन्ना ने दुनिया को अलविदा कह दिया.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *