Breaking News
Home / बॉलीवुड / ‘जंजीर’ के बाद राम चरण ने क्यों नहीं किया बॉलीवुड में काम? अब दिया जवाब

‘जंजीर’ के बाद राम चरण ने क्यों नहीं किया बॉलीवुड में काम? अब दिया जवाब

मशहूर फिल्म ‘बाहुबली’ के डायरेक्टर एस एस राजामौली के निर्देशन में बनी फिल्म ‘आरआरआर’ 7 जनवरी को रिलीज होने वाली थी.मगर देशभर में कोरोना के बढ़ते कहर के चलते फिल्म की रिलीज को आगे टाल दिया गया है.फिल्म में राम चरण मुख्य भूमिका में हैं.राम चरण के अलावा फिल्म में एनटीआर जूनियर, आलिया भट्ट और अजय देवगन अहम किरदार में नजर आने वाले हैं.

साउथ की फिल्मों में एक बड़ा नाम राम चरण की बॉलीवुड की फिल्म के बारे में बात करें तो उन्होंने प्रियंका चोपड़ा के साथ फिल्म जंजीर में काम किया था.हालांकि, उनकी ये फिल्म दर्शकों के मन को लुभाने में कामयाब नहीं हो पाई.राम चरण इसके बाद से हिंदी फिल्मों में नजर नहीं आए.उन्होंने लगातार साउथ की फिल्मों में अपनी एक्टिंग को जारी रखा.

राम चरण की हिंदी में डब की गई फिल्मों को फैंस काफी पसंद करते हैं.उनकी एक्शन सीन्स खास तौर पर लाजवाब होते हैं.जब राम चरण से इस बारे में पूछा गया कि उन्होंने हिंदी फिल्मों की तरफ अपना रुख क्यों नहीं किया? इस बारे में बोलते हुए राम चरण ने कहा कि ऐसी बात नहीं है कि वह हिंदी के दर्शकों से नहीं जुड़े हैं.उन्होंने बताया कि उनकी आने वाली फिल्म ‘आरआरआर’ कई भाषाओं में रिलीज होगी.जिसमें हिंदी भी शामिल है.

राम चरण के मुताबिक वह ”आरआरआर” को हिंदी फिल्म की ही तरह देखते हैं,क्योंकि उन्होंने इस फिल्म हिंदी में भी डब किया है.कपिल शर्मा के शो में शिरकत कर चुकीं आलिया भट्ट ने शो के दौरान खुलासा किया कि जूनियर एनटीआर और राम चरण ने फिल्म ‘आरआरआर’ के लिए अपनी आवाज में हिंदी में डबिंग की है.

जूनियर एनटीआर, राम चरण, आलिया भट्ट और निर्देशक एसएस राजामौली सहित ‘आरआरआर’ के कलाकार ‘द कपिल शर्मा शो’ में विशेष गेस्ट के रूप में दिखाई दिए थे.आलिया भट्ट ने कहा किया, “यदि आपने ट्रेलर देखा होगा, तो उन दोनों (जूनियर एनटीआर और राम चरण) ने पूरी फिल्म को हिंदी में अपनी आवाज में डब किया है.दर्शकों को एक प्रामाणिक अनुभव मिलेगा

मेरे पिता को हुई थी जलन

 

अमिताभ बच्चन की छवि ‘लार्जर दैन लाइफ’ की है.इस भूमिका के लिए रामचरण ने काफी तैयारियां की. मगर इसके साथ ही वे यह भी मानते हैं कि उन्होंने अमिताभ की नकल करने की कोशिश नहीं की.उनका कहना है,इस तरह की भूमिकाओं के लिए काफी जवाबदेह होने की जरूरत होती है.हमें कभी अमिताभ बच्चन जैसा बनने की नहीं, बल्कि अमिताभ बच्चन से प्रेरित होने की जरूरत है.

रामचरण बताते हैं,जब मेरे डैड को ज़ंजीर की मेरी भूमिका के बारे में पता चला,उन्हें जलन हुई.वे अमिताभ बच्चन के बहुत बड़े फैन हैं.वे उनकी भूमिका नहीं कर पाए इस बात से वे मुझसे ईर्ष्या करने लगे थे.रामचरण को यह फिल्म करने के लिए उनके पिता चिरंजीवी ने काफी प्रोत्साहित किया.चिरंजीवी ने रामचरण को कहा,बिलकुल मत डरो.ये एकदम नई स्क्रिप्ट है.निर्देशक ने ज़ंजीर को एकदम नया अंदाज दिया है.खूब जिम्मेदारी से काम करो.

About Anant Kumar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *